गोरखपुर: “परिजनों को लाश देकर अस्‍पताल से भगा दिया गया, पोस्‍टमार्टम तक नहीं हुआ”

(Source: PTI)
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के बीआरडी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत मामले में समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को योगी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से हुई है। जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार आनन-फानन में आयोजित प्रेसवार्ता में अखिलेश ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, “मृतकों के परिजनों को लाश देकर भगा दिया गया, यही नहीं मृतक बच्चों का पोस्टमार्टम तक नहीं हुआ है। योगी सरकार ने यह सब सच्चाई छुपाने के लिए किया है। बच्चों की मौत से मैं दुखी हूं।” सपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में अखिलेश ने कहा कि सरकार बच्चों की जान जाने का कारण नहीं बता पा रही है। सरकार मौतों को छिपा रही है। उन्होंने कहा कि मृतक बच्चों के परिजनों को पीछे से बाहर निकाला जा रहा था। अखिलेश ने कहा, “मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से ही हुई है। अगर मुख्यमंत्री स्तर पर समीक्षा में आक्सीजन का भुगतान न होने की बात सामने नहीं आई तो गलती किसकी। हो सकता है कि कमीशन की वजह से ऑक्सीजन का भुगतान न हुआ हो।” उन्होंने कहा, “मजिस्ट्रेट जांच का कोई मतलब नहीं। यह समय इस्तीफा मांगने का नहीं, बच्चों की जान बचाने का है। समाजवादी एंबुलेस काम आ रही है।”

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 60 से ज्यादा बच्चों की हुई मौतों पर योगी सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि विपक्ष मौत पर राजनीति न करे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के बाद शनिवार को मीडिया से बातचीत में सिद्धार्थनाथ ने कहा, “यह गंभीर मामला है। इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। आरोप हम भी लगा सकते हैं, लेकिन हम स्थिति को काबू में करना चाहते हैं।” केंद्र सरकार ने शनिवार को उत्तर प्रदेश सरकार से गोरखपुर के एक अस्तपाल में पिछले पांच दिनों में 60 से अधिक बच्चों की मौतों को लेकर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।
राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल तथा स्वास्थ्य सचिव सी. के. मिश्रा से गोरखपुर जाने और बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में खामियों का पता लगाने के लिए कहा गया है, जहां बच्चे भर्ती थे। इस बीच, उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने बी.आर.डी. मेडिकल कॉलेज अस्पताल प्रमुख को लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post

POST ADS1

POST ADS 2