बाढ़ पीड़ितों के लिए मसीहा बन आगे आये बहराइच के कुछ युवा


बहराइच। उत्तर प्रदेश के तराई के जिला बहराइच में आई भयानक बढ़ से हुई त्रासदी के चलते जिले के कई ब्लॉकों के सैकड़ो गाँवो में स्थिती बद से बदतर होती जा रही है। जिला प्रशासन व सरकार दोनों ही बढ़ पीड़ितों की मदद के लिए दिन रात एक कर राहत एवं बचाओ कार्य मे लगी हुई है परंतु एकाएक आयी प्राकृतिक आपदा के चलते अभी भी कई ऐसे इलाके है जिन तक राहत-एवं बचाव कार्य के बाद रेस्क्यू किये गये बाढ़ पीड़ितो के आगे खाने-पीने की किल्लत अब साफ देखने को मिल रही है।
बताते चले तराई में आई इस बाढ़ में राहत एवं बचाव कार्य में इस वर्ष एन०डी०आर०एफ० द्वारा रिकॉर्ड तोड़ बचाव कार्य को भी अंजाम दिया। जिसमें एन०डी०आर०एफ के जवानों द्वारा अब तक हज़ारों लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया है ।वहीं दूसरी ओर जिले में शुरू होने वाली गणेश चतुर्थी को शकुसल निपटाने भी प्रशासन के लिये चुनौती है,वहीं नगर में स्थापित की जाने वाली मूर्ती "बहराइच के राजा" कमेटी के अध्यक्ष मनीष रस्तोगी व बहराइच के राजा कमेटी के सह संग्रक्षक व समाज सेवी बृजेश गुप्ता ने कमेटी के सदस्यों सेवकों व पदाधिकारियों संग मिल जिले में आयी बाढ़ कि त्रासदी को देखते हुवे गणपति बप्पा कि पूजा से पूर्व बाढ़ पीड़ितों तक पहुंच उनका दुःख-दर्द प्रशासन के कान तक ले जाने का प्रयास करने किया। कमेटी के अध्यक्ष मनीष रस्तोगी ने बताया कि "बहराइच के राजा" के आगमन की तैयारियह लगभग पूर्ण हो चुकी है हमारे जिले में जो इस वर्ष बाढ़ का प्रकोप देखने को मिला है उसने कई वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ा है।इस बार कमेटी के लोगो द्वारा बाढ़ पीड़ितों की सहायता में आगे आने का प्रस्ताव रखा गया था जो काबिले तारीफ था उसी पर अमल करते हुवे कमेटी के सक्रिय सदस्यों द्वारा कई बाढ़ पीड़ित इलाको का भ्रमण कर स्थिति का जायज़ा लिया गया व जिन स्थानों तक प्रशासन की मदद नही पहुंच सकी है उन स्थानों के बारे में प्रशासन को अवगत कराया गया।

समाज सेवी बृजेश गुप्ता ने बताया कि "बहराइच के राजा" कमेटी के सदस्यों संग मिल कर एक दल तैयार किया गया है जो लगातार बाढ़ की स्थिति पर निगरानी कर बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों से वार्तालाप करते हुवे उनकी परेशानियों से प्रशासन को अवगत कराता रहेगा।

Post a Comment

Previous Post Next Post

POST ADS1

POST ADS 2