अमेठी में हुआ जीएसटी को लेकर कार्यशाला का आयोजन




अमेठी में आज जीएसटी के लागू होने पर कार्यशाला का आयोजन किया गया ।कार्यशाला का आयोजन जीएसटी विभाग के अधिकारियों द्वारा किया गया ।इस कार्यशाला में व्यापारी और व्यापारिक संगठन व टैक्सेशन कारोबार से जुड़े अधिवक्ताओं को आमंत्रित किया गया  कार्यशाला अमेठी जिले के कलेक्ट्रेट मुख्यालय के सभागार कक्ष में हुई जिसमें वाणिज्य कर अधिकारी पी आर पांडे मुख्य रहे ।इस कार्यशाला में जिला अधिकारी योगेश कुमार अपरजिलाधिकारी ईश्वरचंद्र मुख्य विकास अधिकारी सुश्री अपूर्वा दुबे एस डी एम सदर गौरीगंज मोतीलाल यादव और सभी विभागों के जिला स्तर के अधिकारी मौजूद रहे। अधिवक्ताओं की तरफ से माननीय  उमा शंकर पांडे ने केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई जीएसटी के पक्ष में अपनी बात रखी और इस कार्यशाला में वाणिज्य कर अधिकारी पी आर पांडे द्वारा अधिवक्ताओं और व्यापारियों द्वारा पूछे गए सवालों का जवाब दिया गया और प्रश्न कर्ताओं को पूरी तरह से संतुष्ट करने का प्रयास किया गया मुख्य विकास अधिकारी अमेठी सुश्री अपूर्वा दुबे द्वारा जीएसटी के लागू होने से कुछ नई बातें समाज में प्रभावी होंगी इसके लिए व्यापारी वर्ग को तैयार रहना है और उन्होंने बताया कि हर व्यापारी के लिए जीएसटी का रजिस्ट्रेशन कराया जाना आवश्यक नहीं है जो व्यापारी 20 लाख रूपये से अधिक का टर्नओवर कारोबार करते हैं उनके द्वारा ही जीएसटी के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा यह प्रक्रिया 3 दिन के अंदर पूरी कर ली जाएगी और किसी भी प्रकार से छोटे अधिकारियों व्यापारियों को परेशान नहीं किया जाएगा उनको सरकार सहयोग करेगी इस संबंध में अपरजिलाधिकारी ईश्वरचंद्र ने बताया कि जब भी सरकार कोई नई व्यवस्था लागू करती है तो कुछ समय के लिए न समझ आने के कारण कई आशंका बनी रहती है । उन्होंने कहा कि 17 कानूनों को खत्म कर नया टैक्स कानून जो केंद्र सरकार ने लागू किया है वह व्यापारियों के हित में है इस अवसर पर जिला अधिकारी योगेश कुमार ने जीएसटी से घबराने की कोई बात नहीं । उन्होंने कहा कि जीएसटी के लागू होने से जो काले कारोबार में  लिप्त लोग हैं उनके लिए परेशानी हो सकती है जो लोग टैक्स चोरी किया करते थे अब टैक्स चोरी नहीं कर पाएंगे और सरकार को नियमित रूप से टैक्स की अदायगी होती रहेगी टैक्स चोरी को रोकने से के लिए जीएसटी एक महत्वपूर्ण कदम है और उदाहरण देते हुए बताया कि इतिहास के पन्नों में अलाउद्दीन खिलजी नाम का शासक ने टैक्स का सरलीकरण किया था और और उसके पास सेना को देने के लिए वेतन भी नहीं था उन्होंने कहा कि नए कानून लागू होने पर केवल भ्रांतियां ही उत्पन्न हो रही है जिनको यहां उपस्थित सभी व्यापारी का और विधि व्यवसाय तथा सरकार के सभी अंग जाकर जिले में जीएसटी में उत्पन्न होने वाली भ्रांतियों पर रोक लगाएं और व्यापक प्रचार प्रसार करें जिलाधिकारी योगेश कुमार ने कहा कि जब प्रदेश में कंप्यूटरीकरण किया जा रहा था तब कुछ लोग विरोध कर रहे थे लेकिन कंप्यूटरीकरण से लोगों का काम आसान हुआ है और कहा कि जब उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा सभी राजस्व खतौनी को ऑनलाइन करने का प्रावधान किया गया तो कई कर्मचारी संगठनों द्वारा इसका विरोध किया गया लेकिन खतौनी ऑनलाइन होने के बाद जनसामान्य को लाभ पहुंचा है ठीक उसी प्रकार से जीएसटी के लागू होने के बाद व्यापारी वर्ग को लाभ प्राप्त होगा किसी तरह की आशंका व भ्रांतियों से दूर रहें वाणिज्यकर के अधिकारी व कर्मचारी का मिलकर पूरा सहयोग प्रदान करेंगे इसके बाद जिलाधिकारी योगेश कुमार जीएसटी के प्रचार-प्रसार के लिए कलेक्ट्रेट के सभागार से निकलकर गौरीगंज बाजार में गए और लोगों को व्यापारी वर्ग के लोगों को फूल थमाकर जीएसटी के बारे में बताया कि उनसे उन्हें जीएसटी में के लागू होने से परेशान होने की जरूरत नहीं है उनके साथ वाणिज्य कर विभाग की पूरी टीम भी लगी रही और वाणिज्य कर विभाग के अनुरोध पर जिलाधिकारी अपर जिलाधिकारी और अन्य अधिकारीगण जीएसटी के व्यापक प्रचार-प्रसार में गौरीगंज की बाजार में गए जीएसटी लागू होने के बाद 10 दिन के अंदर फिर नई कार्यशाला का आयोजन के लिए जिलाधिकारी महोदय ने आश्वासन व्यापारी वर्ग तथा वाणिज्य करके विधि व्यवसाइयो ने सहयोग को दिया है और इस संबंध में जीएसटी से संबंधित एक कार्यशाला 10 जुलाई 2017 को संभावित है जिसमें व्यापारी संगठनों और वाणिज्य कर के विधि व्यवसाइयों को प्रतिभागी गणों की एक सूची बनाने को कहा गया है और कहा गया है कि यदि उसमें कोई विधि व्यवसाय अथवा व्यापारी और वाणिज्य विभाग के अधिकारी कोई प्रश्न पूछते हैं तो उनको संतोष जनक उत्तर दिया जाएगा ।रिपोर्ट शिवकेश शुक्ला

Previous Post Next Post

POST ADS1

POST ADS 2