प्रसव के दौरान गुड़िया की हुई मौत परिवार का आरोप झोलाछाप डॉक्टर ने ली जान


गणेश मौर्य

 अंबेडकर नगर उत्तर प्रदेश की सत्ता में आने के बाद योगी राज में एक ओर सरकारी डॉक्टरों के निजी प्रैक्टिस पर रोक लगाने की कवायद की जा रही है वहीं दूसरी ओर झोलाछाप डॉक्टरों को धड़ल्ले से इलाज करने खुली छुट भी देने का काम किया जा रहा है। जिसका खामियाजा.. गुड़िया को भुगतना पड़ा मामला आलापुर थाना क्षेत्र के बाभनपुर गांव निवासिनी 23 वर्षीय गुड़िया उत्तरी उमाकांत का विवाह जहांगीरगंज थाना क्षेत्र के इटहुआ सुंदरपुर गांव में 1 वर्ष पहले बड़ी धूमधाम के साथ हुई थी पिछले हफ्ते गुड़िया को प्रसव पीड़ा हुई तो परिजनों ने उसे राम नगर बाजार वर्षों से चल रहे हैं हर्ष नर्सिंग होम में भर्ती कराया उपचार के लिए संचालक केसी प्रजापति ने 22000 ऑपरेशन फीस जमा करवाई परिवार वालों का आरोप है कि  प्रसव के लिए झोलाछाप डॉक्टर ने ऑपरेशन किया ऑपरेशन के बाद से ही गुड़िया की ब्लडिंग होने से हालत गंभीर हो गई गुड़िया की हालत गंभीर देखते हुए झोलाछाप डॉक्टरों ने गुड़िया को रिफर कर दिया परिवार वालों ने आनन फानन में गुड़िया को लेकर आजमगढ़ जा ही रहे थे कि अतरौलिया पहुंचते-पहुंचते रास्ते में ही उसकी मौत हो गई गुड़िया की मौत के बाद परिवार वालों में मातम  छा गया संचालक ने अपनी सफाई देते हुए बताया कि स्तर जन संतोष गुप्ता को बुलाकर हम ने ऑपरेशन कराया था गुड़िया के शरीर में पहले से खून की कमी थी इसी कारण उसकी मौत हो गई
Previous Post Next Post

POST ADS1

POST ADS 2