आप के एंड्रॉयड फोन हैं 15 छुपे हुए फीचर जो आप को नहीं हैं मालूम जाने यहाँ


एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम बेहद ही विस्तृत है और एक बार में इसे पूरी तरह से समझा नहीं जा सकता। यही वजह है कि आए दिन हम आपको मोबाइल फोन से जुड़ी कुछ ऐसी जानकारियां देते रहते हैं जिनका उपयोग आप अपने एंडरॉयड स्मार्टफोन के साथ कर सकते हैं। इतना ही नहीं ये ट्रिक्स आपके फोन की उपयोगिता को भी बढ़ाते हैं। आज भी हम आपको एंडरॉयड फोन के 15 ऐसे ट्रिक्स बताने जा रहे हैं जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे।

1. डेवलपर्स मोड
एंडरॉयड स्मार्टफोन में डेवलपर्स बेहद ही काम का फीचर है। इससे आप अपने फोन के यूआई में कई बड़े बदलाव कर सकते हैं। यह फीचर काफी छुपा हुआ होता है। एंडरॉयड फोन में डेवलपर्स मोड को आॅन करने के लिए आपको फोन सेटिंग में जाना है और वहां से अबाउट फोन का चुनाव करना है। इसमें आपको बिल्ट नंबर दिखाई देगा उस पर तब तक क्लिक करें जब तक की डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन होने का मैसेज न आ जाए। इसके बाद आपको फिर से बाहर सेटिंग में आना है वहां डेवलपर्स मोड मिलेगा।

2. ऐनिमेशन स्केल
यदि अपको फोन में थोड़ा लैग लग रहा है तो अएप एनिमेशन स्केल से उसे ठीक कर सकते हैं। आपको अपने फोन की सेटिंग से जाकर एनिमेशन स्केल को डिसेबल करना होगा। हालांकि यह फीचर थोड़ा छुपा हुआ होता है। ऐसे में सबसे पहले आपको डेवलपर्स आॅप्शन को आॅन करना है जिसे हमने उपर में ही बताया है। इसके बाद डेवलपर्स मोड में जाकर आपको विंडो ऐनिमेशन स्केल, ट्रांसलेशन एनिमेशन स्केल और एनिमेटर ड्यूरेशन स्केल का आॅप्शन दिखाई देगा। यहां तीनों आॅप्शन को आॅफ करना है।

3. डिफॉल्ट ऐप करें चेंज
कई बार आप किसी वेब लिंक पर क्लिक करते हैं तो वह क्रोम ब्राउजर में खुलता है, इसी तरह फोटो एंडरॉयड फोटो व्यूवर में और वीडियो भी फोन के डिफॉल्ट वीडियो प्लेयर में। परंंतु आप चाहें तो डिफॉल्ट ऐप को बदल सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले सेटिंग में जाना है और फिर उस ऐप सेक्श्न का चुनाव करना है। इसके बाद उस ऐप पर क्लिक करें जिसका डिफॉल्ट आपको बदलना है। इसमें नीचे क्लियर डिफॉल्ट का आॅप्शन मिलेगा उसे क्लिक कर दें।

4. क्विक एक्सेस सेटिंग मेन्यू
फोन की स्क्रीन पर उपर में नोटिफिकेशन आते हैं जिन्हें स्वाइप करके आपको देखना होता है। वहीं दो बार आप उपर से नीचे स्वाइप करेंगे तो सेटिंग मेन्यू आता है। परंतु एक बार में क्विक सेटिंग लाने के लिए आप दो
उंगलियों से स्वाइप कर सकते हैं। नए फोन में तीन उंगलियों से स्वाइप करने पर यह आता है जबकि पुराने फोन में यदि आप तीन उंगलियों से स्वाइप करते हैं तो स्क्रीनशॉट आ जाएगा।

5. स्क्रीन कर सकते हैं कास्ट
आपने स्क्रीन कास्ट और स्क्रीन मिरर का नाम सुना होगा लेकिन इसे कैसे करते हैं और इसका क्या उपयोग है कभी आपने सोचा है? ​चलिए बातते हैं। स्कीन कास्ट या मिररिंग में आप अपने फोन कंटेंट को टीवी पर कास्ट कर सकते हैं। आप फोन में मूवी या गेम प्ले करके उसका आनंद टीवी पर ले सकते हैं। हालांकि इसके लिए अपको टीवी में कास्ट सपोर्ट या फिर गूगल क्रोम कास्ट जैसे डिवाइस का उपयोग करना होगा। इसके बाद आपको फोन की सेटिंग में जाकर स्क्रीन कास्ट को आॅन कर देना है। याद रहे कि इस दौरान फोन और क्रोम कास्ट इंटरनेट से कनेक्ट हो तभी कार्य करेगा।

7. ऐप नोटिफिकेशन करें मैनेज
कई ऐसे ऐप होते हैं जिनमें आप नहीं चाहते कि नेटिफिकेशन भेजे ऐसे में आप उन ऐप के नोटिफिकेशन को ब्लॉक कर सकते हैं। इकसे लिए आपको सेटिंग में जाना है ऐप से नोटिफिकेशन को ब्लॉक कर देना है या फिर उस नोटिफिकेशन पर आपको कुछ देर तक टच करके रखना है। आपके सामने नोटिफिकेशन सेटिंग खुलकर आ जाएगा आप यहां से मैनेज कर सकते हैं।

8. एक हाथ से मैप को करें जूम
जब आप दोनों हाथ से फोन का उपयोग कर रहे हैं तो उस दौरान गूगल मैप के लिए अप पिंच टू जूम का उपयोग कर सकते हैं लेकिन एक हाथ से फोन का उपयोग करते वक्त जूम करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में आप डबल टैप करके मैप को जूम कर सकते हैं। आप उस जगह पर टैप करें जहां जूम करना है।

9. डू नॉट डिस्टर्ब
कभी-कभी आप इतने जरूरी काम में होते हैं, कोई ऐसी जगह होते हैं या फिर सो रहे होते हैं, उस समय आप नहीं चाहते कि जरा सा भी शोर हो। ऐसे में फोन को आॅफ करना जरूरी नहीं है बल्कि आप डू नॉट डिस्टर्ब का चुनाव कर सकते हैं। इसमें आपका फोन आॅन भी रहेगा, सभी तरह के मैसेज भी आएंगे और कॉल भी लेकिन जरा भी शोर नहीं होगा। डू नॉट डिस्टर्ब का विकल्प वॉल्यूम बटन प्रेस करने पर आएगा।

10. स्मार्ट लॉक
यह फीचर भी बड़े काम का है। इसके माध्यम से आप अपने फोन को सुरक्षित रख सकते हैं और समय भी बचा सकते हैं। आप अपने फोन में ट्रस्टेड प्लेस का विकल्प सेट कर सकते हैं। आप जिस जगह को ट्रस्टेड प्लेस में चुनेंगे वहां फोन खुद ही अनलॉक हो जाएगा और उस क्षेत्र से बाहर आते ही लॉक। जैसे घर को आपने ट्रस्टेड प्लेस चुना है तो घर में आते ही फोन खुद ही अनलॉक हो जाएगा। इतना ही नहीं स्मार्ट लॉक अपने फेस को सेट कर सकते हैं। आपका फोन आपका फेस देखकर ही खुलेगा। दूसरे के फेस से नहीं। यदि फिंगरप्रिंट सेंसर है तो भी आप ट्रस्टेड फेस सेट कर सकते हैं। स्मार्ट लॉक का विकल्प आपको फोन की सेटिंग में जाकर ​सिक्योरिटी के अंदर मिलेगा।

11. स्क्रीन पिनिंग
सिक्योरिटी के लिहाज से यह फीचर भी खास है। परंतु इसे आॅन करने और आॅफ करने का तरीका अलग है। स्क्रीन पिनिंग करने के लिए आपको सबसे पहले फोन की सेटिंग में जाना है। यहां से सिक्योरिटी का चुनाव करना है। इसमें नीचे स्क्रीन पिनिंग का विकल्प मिलेगा उसे आॅन कर दें। अब होम पर आकर उस ऐप्लिकेशन को ओपेन करें जिसे पिन करना है। इसके बाद टास्क मैनेजर बटन को क्लिक करें। यहां सभी ऐप्लिकेशन के दिखाई देंगे और सबसे उपर वह ऐप दिखाई देगा जिसे आप पिन करना चाहते हैं। वहीं एप के साथ पिन भी मिलेगा। आपको उस पिन को टच करना है। इसके साथ ही वह ऐप्लिकेशन खुलकर सामने आ जाएगी और फिर सिर्फ उसी ऐप्लिकेशन का उपयोग किया जा सकता है।

12 सेफ मोड में चलाएं फोन
यदि कभी भी आपको लगे कि फोन हैंग हो रहा है या फिर गर्म हो रहा है तो सेफ मोड से आप समस्या का पता लगा सकते हैं। कभी—कभी समस्या ऐप से होती है और कभी सॉफ्टवेयर से। यदि आप फोन को सेफ मोड में आॅन करते हैं थर्ड पार्टी ऐप यहां काम नहीं करता ऐसे में सेफ मोड में आपका फोन सही से कार्य कर रहा है तो समझें कि किसी हाल में इंस्टॉल ऐप की समस्या है और उसे अनइंस्टॉल कर दें। वहीं यदि आपका फोन सेफ मोड में भी समस्या दे रहा है तो इसे सर्विस सेंटर ले जाएं। फोन को सेफ मोड में आॅन करने के लिए सबसे पहले फोन को आॅफ करें और लंबे समय तक पावर आॅफ बटन को प्रेस करें। आपका फोन सेफ मोड में स्टार्ट होगा।

13. अपने फोन के बारे में पाएं जानकारी
आप अपने एंडरॉयड फोन में *#*#4636#*#* डायल कर कई खास जानकारियां ले सकते हैं। जैसे बैटरी की स्थिति, डीएनएस चेक, पिंग और ऐप्लिकेशन के यूसेज टाईम। यह कोड बेहद ही काम का है।

14. वाईफाई करें चेंज
फोन में वाईफाई आॅन करने और आॅफ करने के लिए आप क्विक सेटिंग से जाकर कर लेते हैं लेकिन जब वाईफाई नेटवर्क बदलना होता है तो वहीं पुराना तरीका सेटिंग में जाकर वाईफाई से उसे सभी नेटवर्क को स्कैन करते हैं और फिर नेटवर्क बदलते हैं लेकिन आसान तरीका यह है कि आप क्विक सेटिंग में जाएं और वाईफाई पर कुछ देर ​टच कर के रखें। इसके साथ ही सभी नेटवर्क सामने आ जाएंगे और आप वाईफाई नेटवर्क बदल सकते हैं।

15. यूएसबी डीबगिंग
कभी-कभी आपका फोन यूएसबी के माध्यम से कंप्यूटर से कनेक्ट नहीं होता। ऐसे में आप डीबगिंग को आॅन कर सकते हैं। डीबगिंग को आॅन करने के लिए आपको सबसे पहले डेवलपर्स मोड को आॅन करना होगा। सबसे पहले हमनें इसे ही सिखाया है। डेवलपर्स मोड आॅन होने के बाद आपको उसमें जाना है और थोड़ा नीचे स्क्रॉल करना है। यहां आपको डीबगिंग का विकल्प मिल जाएगा। यदि आप पीसी से मोबइल में कुछ ऐप इंस्टॉल करते हैं तो भी डी​बगिंग का आॅप्शन आॅन करना होगा। डिबगिंग में यूएसबी के माध्यम से कंप्यूटर को फोन का पूर्ण एक्सेस प्राप्त होता है।

Post a Comment

Previous Post Next Post

POST ADS1

POST ADS 2